इस Traffic Rule के बदलने के बाद देना होगे 2000 रूपए, ध्यान नहीं दिया तो कट सकता है आपका भी चालान

अक्टूबर के महीने से देश में कई तरह के नियमों में बदलाव देखा गया है. वही एक बार फिर से अब यातायात के नियम में भी एक बदलाव नजर आने वाला है, जिसे सभी का ध्यान अपनी तरफ खींच लिया है.

यातायात नियमो में बदलाव

आने वाले समय में देश में सर्दी का मौसम आने वाला है. वह ठंड में बढ़ने लगेगी जिसका असर आप सड़कों पर भी दिखाई देने वाला है. देश के कई हाईवे और एक्सप्रेसवे के नियमों में भी सर्दी को देखते हुए यातायात के नियमों में बदलाव किए गए है.

आपको बता दे की, यह ट्रैफिक का नियम स्पीड से जुड़ा हुआ है, जिसमें कुछ बदलाव किया गया है और धुएं और कोहरे से होने वाले एक्सीडेंट को भी काम करने के लिए यह उपाय किया गया है. देश की सबसे पॉपुलर एक्सप्रेसवे यमुना एक्सप्रेसवे पर सर्दी के समय काफी अधिक एक्सीडेंट होने का खतरा रहता है. ऐसे में स्पीड लिमिट को लेकर बदलाव किए गए हैं. आगरा से लेकर ग्रेटर नोएडा की भी 165 किलोमीटर लंबी यमुना एक्सप्रेसवे पर सर्दियों के मौसम में कोहरा बढ़ने के कारण गाड़ियों की स्पीड लिमिट तय कर दी गई है.

इस लिमिट के अनुसार 100 किलोमीटर प्रति घंटे की स्पीड लिमिट को कम करके 80 किलोमीटर प्रति घंटे की स्पीड कर दी गई है. इसके साथ ही भारी वाहनों की स्पीड लिमिट 60 किलोमीटर कर दी गई है. कोहरा और सर्दी के कारण द्र्श्यता कम हो जाती है, जिसकी वजह से 15 दिसंबर से लेकर 15 फरवरी तक हल्के वाहनों के लिए 80 की स्पीड तय की गई है. वहीं यदि इस तरह के नियमों का पालन नहीं किया जाता है और नियमों को तोड़ा जाता है तो, ₹2000 तक का चालान काटने का प्रावधान तय किया गया है.

देश में स्पीड लिमिट से जुड़े नियम

हमारे देश में स्पीड लिमिट को लेकर अलग-अलग नियम बने हुए हैं। आपको बता दे हाईवे पर कार की स्पीड लिमिट 100kmph तो एक्सप्रेसवे पर यह 120kmph है। इसके साथ ही टू व्हीलर के लिए हाईवे और एक्सप्रेसवे पर स्पीड लिमिट 80kmph है और हैवी व्हीकल जैसे ट्रक और बस के लिए स्पीड लिमिट 100 kmph है।

Some Error