इन पशुपालक किसानों को सरकार अब देने जा रही 60.50 लाख रुपए, देखे किस तरह से प्राप्त होगी राशि

किसानों के लिए सरकार कई तरह की योजनाएं चलाती रहती है. इसी को देखते हुए सरकार ने किसान और पशुपालकों को भी प्रोतसाहन देने के लिए कई तरह की योजनाएं शुरू की है, जिसके तहत उन्हें अब पुरस्कृत किया जा रहा है, वहीं अब पुरस्कारों में किसानों व पशुपालकों को सम्मान के रूप में उन्हें नगद राशि प्रदान की जाती है.

कृषक पुरस्कार योजना

इसी कड़ी में अब प्रदेश सरकार की ओर से पशुपालक को बेहतर काम करने वाले किसानों को सम्मान दिया जा रहा है, इसके लिए इच्छुक का आवेदक पुरस्कार प्राप्त करने के लिए आवेदन कर सकते है.. आपको बता दे कि, राज्य सरकार द्वारा कृषक पुरस्कार योजना की शुरुआत की गई है, जिसके माध्यम से बेहतर किसने और पशुपालकों को पुरस्कार स्वरूप नगद राशि प्रदान की जाती है.

राजस्थान के इन जिलो में हुआ बारिश का अलर्ट जारी, हो सकती है खतरनाक बारिश, देखे

इस योजना में पशुपालक और किस दोनों ही आवेदन कर सकते हैं और राशि प्राप्त कर सकते हैं. इसमें किसानो को 50 हजार तक पुरस्कार प्राप्त कर सकता है. इस योजना को आत्मा योजना के नाम से भी जाना जाता है इस योजना में प्रत्येक पंचायत समिति से एक क्षेत्र के लिए एक किसान का चयन किया जाएगा. इस योजना के तहत प्रत्येक जिले की 9 पंचायत समितियां में से 45 किसानों का पुरस्कार के रूप में चुना जाएगा.

इन किसानों को मिलने वाला है फायदा

इस योजना में वे किसान भाग लेकर पुरस्कार प्राप्त कर सकते हैं, जिन्होंने कृषि, उद्यानिकी, पशुपालन, जैविक खेती व नवाचारी खेती में उत्कृष्ट काम किया है उनका चुनाव् इसमे किया जाएगा । उनका कृषि विभाग की आत्मा योजना के तहत चयन किया जाएगा। वहीं जिन प्रगतिशील किसानों को वर्ष 2009-10 से 2022-23 तक आत्मा योजना के तहत पुरस्कार दिया जा चुका है, वे किसान इस योजना के लिए दोबारा पात्र नहीं मानें जाएंगे।

नेता से लेकर अभिनेता तक, सब हो रहे क्रेडिट कार्ड और साइबर फ्रॉड का शिकार, जानिए कैसे रहें बच कर,

किसानों को यह पुरस्कार राज्य जिला और पंचायत स्तर पर प्रदान किया जाने वाला है, जिसमे किसानों को ₹50000 का पुरस्कार दिया जाएगा. इसके आधार पर हर जिले से 10 श्रेष्ठ किसानों और पशु पालको का चुनाव होने वाला है इनको भी 25000 रुपए का पुरस्कार नगद देने वाला है.

यह उपाय करके आसानी से बचा सकते है, धान की फसल को बोना रोग से, होगा उत्पादन में फायदा

48 जिलों में से प्रत्येक जिले से दो पशुपालकों को सम्मानित किया जाएगा। पंचायत समिति स्तर पर चयनित किसानों को 10,000 रुपए का पुरस्कार दिया जाएगा। इस तरह 453 पशुपालाकों को 60.50 लाख रुपए की राशि दी जाने वाली है.

Some Error