किसान योजना में पाए गये यह अपात्र किसान, पैसे वापस लेने की तेयारी, कही आप भी तो इस लिस्ट में नही देखे

Kisan Yojna Scheme: किसानों के लिए सरकार द्वारा कई तरह की योजनाएं चलाई जाती है, जिनका लाभ भी किसानों को मिलता है। लेकिन कई बार ऐसे हालात बन जाते हैं कि, कुछ अपात्र किसान भी इन योजनाओं का लाभ लेने लग जाते हैं और पत्र किस इस लाभ से वंचित हो जाते हैं। इसी को देखते हुए सरकार भी आप कठोर कदम उठाते हुए नजर आ रही है।

किसान योजना के अपात्र किसान

आपको बता दे कि बिहार सरकार द्वारा बैंक को पीएम किसान योजना का लाभ उठाने वाले लगभग 81000 पत्र किसानों से एक बार फिर से राशि वापस लेने की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है। यह वह किसान है, जिन्होंने गलत तरीके से राशि प्राप्त की थी और वह योजना के पात्र नहीं थे।

मानसून ने जाते जाते मारी पलटी, मौसम विभाग ने करी ऐसी बड़ी घोषणा

इस समय कई किसानों को केंद्र सरकार ने इनकम टैक्स चुकाने और अन्य कार्यो से इस योजना का लाभ उठाने से भी अयोग्य पाया था और उन्हें राशि प्रदान कर दी गई थी। ऐसे में एक बार फिर से इन्हें राशि लूटने के लिए आदेश जारी किया गया है।

पात्र किसान परिवारों की पहचान

आपको बता दे की, पीएम किसान योजना के दिशा निर्देशों के अनुसार राज्य सरकारी सहायता पात्र किसान परिवारों की पहचान करती है और लाभार्थी किसान परिवारों को सीधे उनके बैंकिंग के खाते में राष्ट्रीय प्रधान की जाती है। इस योजना में लाभार्थियों की जांच की गई थी, जहां पर कुल 81000 आयोग के किसानों को पाया गया है, जिनके खातों में पैसे चले गए हैं। अब यह खुलासा होने के बाद इन सभी किसानों से एक बार फिर से धन वापस लेने की शुरुआत की जा चुकी है।

खेतो में बोरिंग लगाने के लिए सरकार किसानों को दे रही आर्थिक सहायता, इस योजना के लिए करना होगा आवेदन

बेंको से लेन-देन पर प्रतिबंध लगाने की भी मांग

बिहार राज्य से कृषि विभाग ने सभी संबंधित बैंकों से अयोग्य किसानों से धन वापस लेने की प्रक्रिया को तेजी से पूरा करने की मांग की है। यहा 81,595 किसानों से लगभग 81।59 करोड़ रुपये वापस लिए गए हैं। बैंकों को यह भी सलाह दी गई है कि, अयोग्य किसानों को यदि आवश्यक हो तो नए सिरे से रिमाइंडर भेजें है। इसके साथ ही बैंकों से अयोग्य किसानों के अकाउंट से लेन-देन पर प्रतिबंध लगाने की भी मांग की गई है।

Some Error