किसानों को ये यंत्र खरीदने पर देना होगा टैक्स, जाने पूरी रिपोर्ट

सब्सिडी योजना 2023: नये साल के बजट घोषणा के बाद सरकार ने किसानो के हित के लिए सब्सिडी योजना 2023 का अभियान शुरू किया है! इस योजना के तहत सरकार ने 60 से ज्यादा कृषि यंत्र पर सब्सिडी की घोषणा की है! इस समय फसल काटने का समय च रहा है और काटने के बाद खेती की निराई व गुड़ाई करना जरुरी होता है! इसे में किसान को कुछ कृषि यंत्र की आवश्यकता होती है और कुछ किसान कृषि यंत्र खरीदने में असमर्थ होते है! बाजार में कुछ यंत्र इतने महंगे है की सामान्य किसान खरीदने की सोच भी नहीं सकता है! इसा समस्या के समाधान के लिए राजस्थान सरकार की और से किसानो को 60 से अधिक कृषि यंत्र पर अनुदान देने का फेसला किया है! कृषि यंत्र सब्सिडी योजना 2023 में 1000 रूपये से लेकर 3.5 लाख तक अनुदान दिया जा रहा है! आज हम कृषि यंत्र योजना राजस्थान के 60 से अधिक यंत्रो पर मिलने वाले अनुदान, केसे और कहा आवेदन कर सकते है! आवेदन के लिए आवश्यक दस्तावेज की जानकारी साँझा करंगे!

कृषि यंत्र अनुदान योजना के तहत किसानों को कृषि यंत्र खरीदने पर 60% तक सब्सिडी दी जाती है! क्या आप जानते है किसानों को कृषि यंत्र खरीदने पर जीएसटी भी अलग से देना होता है, इसके लिए जीएसटी परिषद द्वारा अलग-अलग कृषि यंत्रों पर जीएसटी लगाया जाता है। सीमा निर्धारित की गई है। कृषि यंत्रों की खरीद पर किसानों को उसी हिसाब से जीएसटी का भुगतान करना होता है।

12 फीसदी टैक्स

जुताई, कटाई या थ्रेशिंग मशीनरी के लिए उपयोग की जाने वाली कृषि मशीनरी, जिसमें पुआल या चारा बेलर, घास या झाड़ीदार मशीन, यांत्रिक या थर्मल उपकरण के साथ अंकुरण संयंत्र और अन्य कृषि मशीनरी शामिल हैं, को 12 प्रतिशत की दर से जीएसटी का भुगतान करना होगा।

18 फीसदी जीएसटी

फलों या अन्य कृषि उत्पादों की सफाई, छंटाई या ग्रेडिंग के लिए मशीनें, बीजों की सफाई, छंटाई या ग्रेडिंग के लिए मशीनें, अनाज या सूखी फलीदार सब्जियां 18 प्रतिशत की दर से जीएसटी को आकर्षित करेंगी।

कोनसे कृषि यंत्रों पर जीएसटी नहीं

कुदाल, फावड़ा, कांटे और रेक सहित हाथ से या जानवरों की सहायता से संचालित कृषि उपकरण: कुल्हाड़ी, बिल हुक और इसी तरह के काटने के उपकरण, किसी भी प्रकार के हाथ के उपकरण, कैंची, कैंची और छंटाई: घेमला के अलावा इससे कृषि, बागवानी या वानिकी में उपयोग होने वाले दराती, घास काटने वाले, हेज कैंची, लकड़ी की कील और इसी तरह के अन्य कृषि उपकरणों पर जीएसटी की दर शून्य है यानी इन उपकरणों की खरीद पर कोई जीएसटी नहीं देना होगा।

ट्रैक्टर खरीदने पर GST

ट्रैक्टर और उसके पुर्जों पर जीएसटी की दर 12 से 18 प्रतिशत तक है। अगर कोई किसान 5 लाख रुपये का ट्रैक्टर खरीदता है तो उसे 12 फीसदी की दर से जीएसटी देना होगा. इस तरह एक किसान को 5 लाख रुपये के ट्रैक्टर पर 60,000 रुपये जीएसटी देना होगा। वहीं ट्रैक्टर के पुर्जों की खरीद पर 18 फीसदी की दर से जीएसटी लगता है.

कृषि यंत्रों की खरीद पर सब्सिडी

कृषि यंत्र अनुदान योजना के तहत किसानों को 60से ज्यादा कृषि यंत्रों पर 60% तक अनुदान दिया जाएगा। योजना के तहत 1000 रुपए से लेकर 3.5 लाख रुपए तक की राशी को शामिल किया गया है जिस पर सरकार की ओर से किसानों को सब्सिडी प्रदान किया जाएगा। आपको यह भी जानकारी होना जरुरी है:- कि कृषि यंत्र सब्सिडी योजना 2023 के तहत अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति किसानों के साथ ही महिला किसानों को प्राथमिकता दी गयी है।

 कृषि यंत्र अनुदान योजना में सब्सिडी के लिए पात्रता

राजस्थान में 2021 के अनुसार किसानो की संख्या 76.55 लाख कुल किसान है! पुरे भारत में 10.07 से ज्यादा किसान है! राजस्थान के किसानो के कर्जे 1.13 लाख प्रतेक किसान के कर्ज है! कर्जदार किसान कृषि यंत्र खरीदने की नहीं सोच सकता है! जिसके लिए सरकार ने कृषि यंत्र सब्सिडी की योजना शुरू किया है! सब्सिडी का लाभ लेने के लिए कुछ नियम बनाये गए है! नियम निम्न प्रकार से है:-

  • सब्सिडी के आवेदन के लिए राजस्थान का मूल निवासी होना जरुरी है!
  • आवेदन करता के नाम पर भूमि होनी चाहिए!
  • किसान के एज जगह पर 0.3 हैक्टेयर कृषि भूमि होनी चाहिए!
  • किसान का तिन साल के अंदर कृषि यंत्र पर अनुदान लिया नही होना चाहिए!
  • आवेदन करता का जन आधार में नाम और बेंक खाता जनधारक से लिंक होना चाहिए!

सब्सिडी योजना के आवश्यक दस्तावेज

  • आवेदन करता का आधारकार्ड या जनधारक कार्ड
  • ट्रैक्टर की आरसी (RC)
  • जमाबंदी (छ महीने से ज्यादा पुराणी नहीं होनी चाहिए)
  • मोबाइल नंबर (जनधारक कार्ड से लिंक)
  • बैंक खाता की पासबुक
  • पासपोर्ट साइज फोटो

Some Error