किसानों की हो गई चांदी, सरकार मशीनों पर दे रही 80% सब्सिडी, 10 अक्टूबर से शुरू होगा रजिस्ट्रेशन यहा से करे आवेदन

सरकार अक्सर किसानो को खेत में आधुनिक कृषि यंत्रों को बढ़ावा देने के लिए कई तरह की योजनाएं और सब्सिडी प्रदान करती रहती है। उसी के तहत एक बार फिर से सरकार द्वारा इस तरफ ध्यान दिया गया है, जिसमें जुताई, कटाई, बुवाई जैसे कई कामों के लिए कम लागत में किसानों को कृषि यंत्र उपलब्ध करवाए जा रहे हैं।

19 लाख किसानो का हो रहा ब्याज माफ़, सरकार करने जा रही 400 करोड़ रूपए का भुगतान

कृषि यंत्रीकरण योजना

इस तरह से बिहार सरकार की कृषि यंत्रीकरण योजना किसानों को महंगे कृषि यंत्रों की खरीदी पर 40 से 80% का सब्सिडी प्रदान कर रही है। इसके लिए आवेदन हर साल मनाया जाता है इस साल भी 10 अक्टूबर से इन आवेदनों की शुरुआत हो चुकी है।

सरकार द्वारा 72 लाख किसानों को ट्रांसफर किए गए 1561 करोड रुपए

कृषि यंत्रीकरण योजना के तहत बिहार सरकार द्वारा 2023 से 2024 में 119 करोड रुपए की लागत किसानों का अनुदान के रूप में देने की योजना बनाई गई है, जिसके तहत उन्हें कृषि यंत्र उपलब्ध करवाए जाएंगे। इस योजना के तहत 110 प्रकार के कृषि यंत्रों को शामिल किया गया है, जिस पर सब्सिडी प्रदान की जाएगी इसमें सिंचाई कटाई बुवाई और जुताई आदि जैसी कई मशीन शामिल है, जिसका लाभ किसान ले सकते है।

10 नवंबर 2023 तक करे आवेदन

यदि आप भी इस योजना का लाभ लेना चाहते है, तो कृषि यांत्रिकरण योजना के तहत कृषि यंत्रों की खरीद पर सब्सिडी पाने के लिए रजिस्ट्रेशन 10 अक्टूबर 2023 से शुरू हो जायेगा। आवेदन करने की अंतिम तिथि 10 नवंबर 2023 है, इसके बाद आवेदन नहीं लिए जाएंगे। सब्सिडाइज्ड रेट पर कृषि यंत्र की खरीद करने और इच्छुक किसानों से ऑनलाइन आवेदन इस वेबसाइट https://farmech.bih.nic.in/ पर कर सकते हैं। इसके साथ ही ऑनलाइन आवेदन के संबंध में विशेष जानकारी के लिए अपने प्रखंड कृषि पदाधिकारी या सहायक निदेशक जिला कृषि पदाधिकारी से संपर्क किया जा सकता है।

अनुदान का लाभ इस प्रकार

योजना के तहत 20 हजार रुपये या 20 हजार रुपये से कम अनुदाव वाले कृषि यंत्रों पर गैर-रैयत किसान भी अनुदान का लाभ ले सकते हैं। 20,000 रुपये से अधिक अनुदाव वाले कृषि यंत्रो के लिए LPC या अपडेटेड मालगुजारी रसीद 2023-24 उपलब्ध नहीं रहने की स्थिति में वित्त वर्ष 2022-23 और 2021-22 का मालगुजारी रसीद रहने पर भी योजना का लाभ ले सकेंगे।

Some Error