महाशिवरात्रि 8 या 9 मार्च को? किस दिन मनायी जायेगी, जानें इसकी सही तारीख और पूजा का शुभ मुहूर्त

हर साल महाशिवरात्रि का पर्व काफी धूमधाम से मनाया जाता है, महाशिवरात्रि हिंदुओं के लिए पवन पर्वों में से एक मानी जाती है। वहीं हर साल की तरह इस वर्ष भी महाशिवरात्रि 8 मार्च को होने जा रही है, ऐसे में कई लोगों को कंफ्यूजन हो रहा है कि, वह 8 मार्च को शिवरात्रि मनाये या फिर 9 मार्च को।।

महाशिवरात्रि कब मनाई जायेगी (Mahashivratri 2024)

इस साल या 8 मार्च और 9 मार्च दोनों के बीच में आ रही है। इसी वजह से कई लोगों को पूजा का शुभ मुहूर्त पता नहीं चल पा रहा है, ऐसे में हम आपको इसके शुभ मुहूर्त के बारे में बताने जा रहे। आज महाशिवरात्रि का व्रत शिव भक्तों के लिए काफी महत्वपूर्ण माना जाता है और इस दिन भगवान शिव की पूजा की जाती है। महिलाओं के लिए महाशिवरात्रि का व्रत काफी फलदाई माना गया है, ऐसा कहा जाता है कि, महिलाओं का विवाह इस व्रत को करने से जल्दी हो जाता है। इस दिन व्रत रखकर पूजा पाठ करने से विवाह में आने वाली अडचने दूर हो जाती है।

घर बेठे लोग गूगल से छाप रहे है मोटा पैसा, कमाई देखे प्रूफ के साथ,,,

महाशिवरात्रि पूजा का मुहूर्त

महाशिवरात्रि पूजा के लिए सबसे बेहतर मुहूर्त इस कुछ इस तरह से रहने वाला है। प्रथम प्रहर में पूजा समय  8 मार्च की शाम 06।25 मिनट से रात्रि 09।28 मिनट तक है। दूसरे प्रहर में पूजा का समय रात 09।28 मिनट से 9 मार्च मध्य रात्रि 12।31 बजे तक है। वहीं तीसरे प्रहर में पूजा का समय 9 मार्च मध्य रात्रि 12।31 मिनट से प्रातः 03।34 मिनट तक है, इसके साथ ही चतुर्थ प्रहर पूजा समय 9 मार्च को ही प्रातः 03।34 मिनट से सुबह 06।37 मिनट तक है।

.सरसों साप्ताहिक रिपोर्ट :क्या भाव में आ सकता है उछाल, औसतन उत्पादन में 3.5% की आ सकती है गिरावट

कब पूजा करना श्रेष्ट माना गया

आपको बता दे की, इस दिन शिवजी की पूजा की जाती है और प्रदोष कल्याणी सूर्यास्त के बाद रात और दिन के बीच का समय पूजा के लिए शुभ माना गया है। इसके साथ महाशिवरात्रि की रात पर जागरण करके रात के चारों पहर पूजा करने की भी मान्यता बताई जाती है।

किसान किस तरह करते हैं असली और नकली घी की पहचान

इस दिन भक्तों पर विशेष कृपा होती है

मान्यताओं के अनुसार बताया जाता है कि, रात भर जागकर शिव और उनकी शक्ति माता पार्वती की पूजा करने से भक्तों पर विशेष कृपा शिव पार्वती की बनी रहती है। महाशिवरात्रि के दिन रात भर जाकर भोलेनाथ की आराधना करने से जीवन के तमाम कष्ट दूर होते हैं।

Some Error