सरकार देगी अब दिहाड़ी मजदूरों को मंथली 3,000 रुपये की पेंशन, जानें क्या है, इसके नियम और शर्तें,

आज समय में सरकार द्वारा सभी असंगठित क्षेत्र में काम करने वाले मजदूरों के लिए PF अकाउंट खुलता है, जिसमें कई तरह की सुविधा भी प्रदान की जाती है। वही इस समय सरकार EPFO असंगठित क्षेत्र में काम करने वाले मजदूर को बड़ी सौगात देने की तैयारी कर रही है। बताया जा रहा है कि, EPFO एक पेंशन स्कीम लेकर आने वाला है, जिसके कई फायदे है.

3000 रुपये की पेंशन

रिपोर्ट के अनुसार EPFO अपने पेंशन स्कीम के कवरेज को बढ़ाने वाला है, इस स्कीम के तहत सभी कर्मचारियों को 60 साल की आयु के बाद मिनिमम ₹3000 हर महीने पेंशन प्राप्त होने वाली है।  इस योजन को यूनिवर्सल पेंशन स्कीम नाम दिया गया है, इसका उद्देश्य कर्मचारियों को हर महीने ₹3000 की पेंशन राशि प्रदान करना है। मौजूदा EPFO 1995 में काफी सारी चुनौतियों का समाधान किया जा रहा है, इसमें ₹15000 हर महीने से ज्यादा कमाने वाले कर्मचारियों के लिए कोई कवरेज नहीं है, बल्कि एक साधारण पेंशन की रकम का प्रावधान इसमें रखा गया है।

यह सुविधाये भी मिलेगी

ओस रिटायरमेंट स्कीम के तहत पेंशन, विधवा पेंशन, बच्चों की पेंशन और विकलांगता पेंशन का प्रावधान भी शामिल किया गया है। वही पेंशन लाभ के लिए सर्विस की मिनिमम योग्यता अवधि 10 साल से बढ़ाकर 15 साल कर दी जाएगी। वऐसे में यदि किसी मजदुर की मौत 60 साल की आयु से पहले होती है तो, EPFO की पेंशन स्कीम के तहत उसकी पेंशन उसके घर वालो को मिल जाएगी।

इस तरह करना होगा पेंशन के लिए इन्वेस्ट

₹3000 की मिनिमम पेंशन के लिए मजदुर को 5.4 लाख रुपए जमा करने की आवश्यकता होगी, इसके साथ ही EPFO के सर्वोच्च निर्णय लेने वाले बोर्ड के द्वारा स्थापित एक समिति ने बताया है कि, इसके लिए सदस्य खुद से ज्यादा कंट्रीब्यूशन का ऑप्शन भी चुन सकता है और वह ज्यादा पेंशन भी ले सकता है।

वर्तमान समय जो भी कंपनी 20 से अधिक मजदूरों के साथ कार्य करती है, वहां हर महीने 15000 रुपए तक कमाने वाले लोगों के लिए PF योगदान जरूरी हो गया है, सभी कर्मचारी अपनी मूल सैलरी का 12 फ़ीसदी इसमे जमा करते है, ताकि उनका भविष्य अधिक ज्यादा सुरक्षित हो सके और वह अपना जीवन यापन अच्छे से कर सके।

Some Error