राजस्थान की इकोनॉमी 5 हजार करोड़ो से ज्यादा में डूबी, मुख्यमंत्री भजनलाल ने बनाया जोरदार प्लान

कर्ज में डूबी राजस्थान की अर्थव्यवस्था को लेकर मुख्यमंत्री भजनलाल शर्मा सक्रिय हो गए हैं. शुरुआती चरण में खर्चों में कटौती से सरकार पैसे बचाएगी और अनावश्यक खर्चों पर रोक लगाएगी. सीएम ने नौकरशाहों को सरकारी योजनाओं का प्रभावी ढंग से प्रचार-प्रसार करने का निर्देश दिया है.इसमें सोशल मीडिया की भी मदद लें. प्रचार-प्रसार के लिए नया प्लेटफॉर्म बनाने की जिम्मेदारी भी सूचना प्रौद्योगिकी एवं संचार विभाग (DoIT) को देने की तैयारी है.


पड़ रहा असर

विकास योजनाओं पर खर्च में कटौती की जरूरत है.
राज्यों को भारतीय रिजर्व बैंक से ओवरड्राफ्ट के जरिए यानी तय सीमा से ज्यादा पैसा उधार लेना पड़ता है।
हर साल ब्याज बढ़ता है, जिसका असर अर्थव्यवस्था पर पड़ता है.

यह भी पढ़ें

राजस्थान में इन जिलों में हुआ मुसलाधार बारिश का अलर्ट जारी, IMD ने की भविष्यवाणी

ऋण की स्थिति

वर्ष 2022-23 में राजस्थान पर अनुमानित कर्ज 5,16,815 करोड़ रुपये था, जो इस साल के अंत तक बढ़कर 5,79,781 करोड़ रुपये होने की उम्मीद है. अकेले इस साल राजस्थान ने 26,008 करोड़ रुपये का कर्ज लिया है.

यह भी पढ़ें

Jio-Airtel कंपनी के उड़े तोते, यह कम्पनी दे रही है 197 के पैक में 70 फ्री, अनलिमिटेड डाटा

नियमित फ्लाइट से करेंगे यात्रा

सीएम भजनलाल शर्मा राजस्थान और अन्य राज्यों में जाने के लिए विशेष विमानों का इस्तेमाल कम कर सकते हैं. एक दिन पहले ही सचिवालय में नौकरशाहों के साथ हुई बैठक में उन्होंने मितव्ययता का पाठ पढ़ाया था. उन्होंने यह भी कहा कि फिलहाल वह विशेष विमान से यात्रा करते हैं, लेकिन जहां तक ​​संभव होगा वह नियमित उड़ान से यात्रा करेंगे. अगर ऐसा हुआ तो सीएम दूसरों के लिए मिसाल बन सकते हैं

Some Error