किसानो के आर्थिक विकास के लिए सरकार ने की “हिम उन्नति योजना” की शुरुआत, देखे इसके अनोखे फायदे

सरकार किसानों की उन्नति के लिए लगातार प्रयास करती रहती है और कई तरह की योजनाएं बनाती रहती है। इसी तरह से हिमाचल प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री डॉक्टर धनीराम शांडिल ने कहा है कि, प्रदेश को विकास के पद पर अग्रसर करने के लिए और किसानों को आर्थिक रूप से मजबूत बनाने के लिए हम एक और प्रयास करने जा रहे है।

हिम उन्नति योजना की शुरुआत

पिछले दिनों उन्होंने ग्राम पंचायत नानी में दो दिवसीय किसान में थे कि, समारोह को संबोधित किया था जहां पर उन्होंने बताया कि, आने वाले समय में नई तकनीक से जोड़ना किसानों को उनके बारे में अवगत कराना हमारा मुख्य उद्देश्य होगा। इसके साथ ही उन्होंने कहा है विकसित तकनीक से खेती कर अपनी आय में भी बढ़ोतरी कर सकते हैं, किसानों को अपने उपज में बढ़ोतरी के लिए नहीं रखने को अपने पर भी बोल देना आवश्यक है।

बारिश की ट्रफ लाइन में हुआ बदलाव: आज राजस्थान के इन 13 से अधिक जिलों में होगी मुसलाधार बरसात

इसके लिए स्वास्थ्य मंत्री द्वारा बताया गया है कि सरकार कृषि क्षेत्र में विकास के लिए हम उन्नति योजना प्रारंभ करने जा रही है, इस योजना का सबसे बड़ा लाभ यह होगा कि आनाज, सब्जियो, फलों, फूलों और नगदी फसलों के प्लास्टर और प्राकृतिक कृषि के अलग प्लास्टर बनाए जाएंगे, जिसमें प्रथम चरण में ही उन्नति के लिए 150 करोड़ रुपये उपलब्ध करवाए जाएंगे।

क्या होंगे योजना के फायदे

इस योजना  के अंतर्गत अनाजों से संबंधित सरकार द्वारा जिलेवार database भी तैयार किया जाएगा। वही इस योजना से अंतर्गत पशुपालकों को भी पशुधन की देख रेख के लिए बेहतर सुविधा उपलब्ध करवाई जाएगी, ताकि वह अच्छे तरीके से इनकी देखभाल कर सके। जिसके लिए सरकार द्वारा mobile app भी launch किया जाएगा।

Him Unnati Yojana का मुख्य उद्देश्य

इसक मुख्य उद्देश्य किसानों की आय में वृद्धि करना है, साथ ही किसानों को एकीकृत एवं समग्र कृषि गतिविधियां करने के लिए प्रोत्साहित करना। इस योजना के लिए सरकार द्वारा 2000 से अधिक cluster बनाए जाएंगे, ताकि जिससे कि किसानों की आय में वृद्धि की जा सके। यह योजना किसानों को सशक्त एवं आत्मनिर्भर बनाने में भी काफी लाभदायक साबित होने वाली है, जिससे की योजना के संचालन से किसानों की आर्थिक स्थिति में भी सुधार आएगा।

Some Error